Education

फील्ड मार्शल की उपाधि अब तक केवल दो लोगों को मिली है- फील्ड मार्शल के. एम.करियप्पा और फील्ड मार्शल सैम मोनक शॉ को।

फील्ड मार्शल की उपाधि अब तक केवल दो लोगों को मिली है- फील्ड मार्शल के. एम.करियप्पा और फील्ड मार्शल सैम मोनक शॉ को।

Date : 28-Jul-2019
जानें इंडिया आर्मी की वो रोचक बातें, जो इसके अधिकारियों को बनाती है खास देश की सुरक्षा के लिए भारतीय सेना हमेशा तत्पर रहती है। फील्ड मार्शल से लेकर जेनरल या सेना प्रमुख, लेफ्टिनेंट जेनरल, मेजर जेनरल, ब्रिगेडियर, कर्नल, लेफ्टिनेंट कर्नल, मेजर, कैप्टन, लेफ्टिनेंट सबकी एक अलग भूमिका है। इन सभी के लिए क्या कार्यकाल निश्चित है   1. अब तक किसको मिली है फील्ड मार्शल (अवैनिक पद) की उपाधि? -फील्ड मार्शल की उपाधि अब तक केवल दो लोगों को मिली है- फील्ड मार्शल के. एम.करियप्पा और फील्ड मार्शल सैम मोनक शॉ को। 2. लेफ्टिनेंट जेनरल बैज की पहचान क्या है?  - डंडा क्रॉस और तलवार के ऊपर राष्ट्रीय चिंह का निशान मौजूद है। इनका कार्यकाल 60 वर्ष तक होता है।  

Related Topics