Chhattisgarh

आमापारा की आवाज बने शशि तिवारी का हो आगाज़।

आमापारा की आवाज बने शशि तिवारी का हो आगाज़।

Date : 13-Nov-2019
कांकेर 13 नवम्बर । नगर पालिका परिषद चुनाव नजदीक आ रहे है ऐसे में राजनीतिक सरगर्मियाँ अ GBपने चरम पर है । कांकेर की आमापारा शीट चर्चा का विषय बना हुआ है । यहां की दुर्दशा पर एक सर्वे एजेंसी द्वारा रिपोर्ट आने के बाद राजनीतिक हलचल बढ़ने लगी है ऐसे में इस बार आमापारा की जनता नए चेहरे को पार्षद बनाने का मन बना चुकी है। समाजसेवा से जुड़ा एक नया लेकिन अनुभवी चेहरा इस शीट हेतु आमापारा से कांग्रेस प्रत्यासी के रूप में सुर्खियां बटोर रहा है शशि तिवारी आमापारा एवम पूरे कांकेर में जाना पहचाना जमीनी नाम है। जिन्होंने नशा मुक्ति आंदोलन को कांकेर में हवा दी थी । जिसके चर्चे आज भी कांकेर की जनता करती है । तेज तर्रार एवम महिलाओं के विकास के लिए आगे आने वाली महिला प्रत्याशी 30 वर्षो से जनता सेवा की लड़ाई लड़ती आयी है। एवम इस बार उन्होंने चुनाव लड़कर आमापारा में व्याप्त समस्याओं के लिए कांग्रेस से चुनाव लड़ने का मन बनाया है। आमापारा को एक सर्वे कंपनी द्वारा सबसे गंदे एवम अव्यवस्थित मोह्हले के रूप में पेश किया गया है। एवम आमापारा को जनता पानी ,बिजली, अतिक्रमण, आदि की समस्या से जूझ रही है। कुल मिला कर आमापारा एक कचरे की डब्बे की तरह बताया गया है। जिसके बाद शशि तिवारी ने कहा कि इसमें कोई दो राह नही की आमापारा अव्यवस्थित है 2 साल से एक समजसेवी होने के नाते आमापारा के विकास के लिए एक एक बिंदु पर गहन अध्ययन किया है एवम मेरे पास आमापारा के विकास का रोडमैप है । जिससे आमापारा एक आदर्श मोह्हले के रूप में जाना जाएगा । इस बार आमापारा की जनता जाग चुकी है और किसी भी प्रकार के प्रलोभनों मै नही आने वाली है। मेरा निवेदन है कि आमापारा की महिलाएं साथ आये और मिल कर आमापारा के विकास में सहयोग करे। गयत्व है कि शशि तिवारी के समर्थन में कांग्रेस के कई नेता तथा समजसेवी लोग आ चुके है और आमापारा की जनता ने भी शशि तिवरी को चुनने का मन बना लिया है । ऐसे में शशि तिवारी के सितारे बुलंद दिखाई देते है। देखना होगा कि इस बार कांग्रेस आलाकमान आमापारा जैसे संवेदनसील वार्ड से किसे पार्टी का चेहरा बनाता है।

Related Topics