Chhattisgarh

किसान सब्जी हाॅट में राजधानीवासियों को जल्द मिलेंगी हरी और ताजी सब्जियां

किसान सब्जी हाॅट में राजधानीवासियों को जल्द मिलेंगी हरी और ताजी सब्जियां

Date : 19-Jul-2019
रायपुर, 18 जुलाई 2019/ राजधानीवासी जल्द ही किसान सब्जी हाॅट से हरी और ताजी सब्जियां का आनंद उठा सकेंगे। राजधानी के नई मंडी पण्डरी में शीघ्र ही किसान सब्जी हाॅट प्रारंभ होगा। कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन ने आज यहां जिला कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में किसान सब्जी हाॅट प्रारंभ करने और वहां की आवश्यक व्यवस्था के संबंध में अधिकारी की बैठक लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी डाॅ. गौरव कुमार सिंह, मण्डी बोर्ड के प्रबंध संचालक श्री अभिनव अग्रवाल सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे। कलेक्टर डाॅ. एस. भारतीदासन ने कहा कि राजधानी रायपुर के नई मण्डी पण्डरी और पुरानी मण्डी गंजपारा में किसान सब्जी हाॅट के लिए चबूतरों का निर्माण किया गया है। पहले चरण में नई मण्डी पण्डरी में किसान सब्जी हाॅट प्रारंभ किया जाएगा। उन्होंने इसके लिए आगामी 10 दिवस के भीतर आस-पास क्षेत्र के सब्जी उत्पादक किसानों का सर्वे कर उनका पंजीयन करने के निर्देश उद्यान विभाग को दिए है। कलेक्टर ने कहा कि सुबह 6 बजे से 10 बजे तक इसका संचालन किया जाएगा। यदि किसान चाहेंगे तो निर्धारित समय के बाद भी यहां वे अपनी सब्जी बेच सकेंगे। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन सुबह पहले आओ पहले पाओं की तर्ज पर किसानों को चबूतरों तराजू-बांट का आबंटन किया जाएगा। डाॅ. भारतीदासन ने यहां दाम निर्धारण, पेयजल, शौचालय, साफ-सफाई, पार्किंग और विद्युत व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया है। गौरतलब है कि किसानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य दिलाने में किसान सब्जी हाॅट महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इससे किसानों और उपभोक्ताओं के बीच सीधा संपर्क स्थापित होगा। किसानों को उनके उत्पाद का उचित मूल्य मिलेगा और उन्हें बिचैलियों से मुक्ति मिलेगी। किसान सब्जी हाॅट किसानों के लिए तकनीकी सूचना प्रचार-प्रसार केन्द्र के साथ ही सब्जियों, फलों के ग्रेड निर्धारण, सफाई और भण्डारण के लिए यहां आवश्यक सुविधा मिलेगी। इसमें फल और सब्जियों की कीमतों का निर्धारण जिला प्रशासन द्वारा गठित समिति के माध्यम से किया जाएगा। किसानों को उनके उत्पाद के विक्रय के लिए निःशुल्क तराजू-बांट की सुविधा यहां रहेगी। मण्डी बोर्ड के प्रबंध संचालक श्री अभिनव अग्रवाल ने बताया कि उपमंडी प्रांगण पंडरी में 96 ढके हुए चबूतरें तथा पुरानी गंज मण्डी प्रागंण में 60 ढके हुए चबूतरों का निर्माण किया जा चुका है।

Related Topics